इस मेले में आया ढाई करोड़ का घोड़ा: एक बार में 50 लीटर दूध पिलाया जाता है, हर महीने डेढ़ लाख का खर्च

0
47
यंग भारत ब्यूरो
ये है ढाई करोड़ का घोड़ा हीरा। इसकी डाइट और हर महीने उस पर होने वाले खर्च का ब्योरा सुनकर आप चौंक जाएंगे। यह घोड़ा एक बार में 50 लीटर दूध पी जाता है। श्रीगंगानगर में इन दिनों चल रहे घोड़े के मेले में सबसे ज्यादा चर्चा हीरा की है। ये घोड़ा पदमपुर के इकबाल सिंह का है। इकबाल सिंह पिछले 9 साल से इसकी देखरेख कर रहे हैं।
इकबाल सिंह का दावा है कि मेले में आए सभी घोड़ों में हीरा की ऊंचाई सबसे ज्यादा है। आमतौर पर घोड़े की ऊंचाई 160 सेंटीमीटर होती है, जबकि इसकी ऊंचाई 170 सेमी के करीब है। हर महीने हीरा के खान-पान और देखभाल पर डेढ़ लाख रुपए का खर्च आता है। उसे घी पिलाया जाता है और हफ्ते में दो बार दूध पिलाया जाता है।
डाइट में दूध के साथ चना और मूंगफली भी
इकबाल सिंह बताते हैं कि हीरा मारवाड़ी नस्ल का घोड़ा है। इसके पैर मजबूत हैं। डाइट में इसे चना, जौ, दूध, मूंगफली का नीरा दिया जाता है। गर्मी में सरसों और सर्दी में तिल का तेल देते हैं। इससे इसका डाइजेशन अच्छा रहता है। आंतें चिकनी रहती है और घोड़े की स्किन पर चमक आती है।
इकबाल सिंह कॉटन फैक्ट्री के मालिक
इकबाल घोड़े के शौकीन हैं।वे कॉटन फैक्ट्री के मालिक हैं और खेती भी करते हैं। नौ साल पहले उन्होंने हीरा को पाला था। साढ़े तीन साल की उम्र से उसकी डाइट का ध्यान रखा जा रहा है। सात साल की उम्र तक उसे रोजाना 50 लीटर दूध पिलाया जाता था। इसके बाद अभी उसे सप्ताह में दो बार 50-50 लीटर दूध पिलाते हैं। इसकी कद-काठी देखकर राजस्थान और यूपी के घोड़ों के शौकीन ढाई करोड़ रुपए ऑफर कर चुके हैं। इस घोड़े के अब तक 200 से ज्यादा बच्चे हो चुके हैं। इस ब्रीड की डिमांड खूब है। इसके बच्चे भी ज्यादा हाइट वाले हैं।
सवा करोड़ का ‘राज दिलावर’
इसी मेले में सवा करोड़ रुपए का घोड़ा राज दिलावर भी आया है। इसके मालिक लालराज सिंह बताते हैं कि उनका घोड़ा रत्नाकर ब्लर लाइन ब्रीड का है। उन्होंने इसकी कीमत सवा करोड़ रुपए तय की है। 70 लाख रुपए का ऑफर तो मिल गया है। सवा करोड़ मिलेंगे, तो बेच भी देंगे। श्रीगंगानगर के गांव श्रीनगर के रहने वाले लालराज सिंह बताते हैं कि इस घोड़े के 30-35 बच्चे हो चुके हैं। ये सभी 7 से 8 लाख रुपए तक की कीमत में बिके हैं। उन्होंने बताया कि घाेड़े को चना, जौ और घी देते हैं। घोड़े के कान जुड़े हों, गर्दन लंबी और ताकतवर बॉडी हो तो उसकी डिमांड रहती है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here