कोरोना को भगाने के लिए सैकड़ों महिलाओं ने की काली पूजा

0
14
आजमगढ़. कोरोना महामारी (Corona Infection) से आज देश पीड़ित और सरकार लगातार सोशल डिस्टेंसिंग की बात कह रही है. लेकिन आजमगढ़ (Azamgarh) में महिलाएं सार्वजनिक पूजा करके इसकी धज्जियां उड़ा रही हैं. महिलाओं का तर्क है कि इस पूजा-अर्चना से कोरोना महामारी नष्ट हो जाएगी.

आजमगढ़. आजमगढ़ (Azamgarh) जिले के अतरौलिया थाना क्षेत्र के भरसानी गांव में आज सुबह सैकड़ों की तादाद में महिलाओं ने डीह, काली की पूजा अर्चना की. करोना काल (Corona Era) में हो रही मौतों के कारण ग्रामीण महिलाओं ने आस्था और अंधविश्वास के साथ गांव के सिवान में इकट्ठा होकर डीह और काली मां के स्थान पर धार चढ़ाई. ग्रामीण महिलाओं का मानना है कि ऐसा करने के बाद करोना से अब कोई मौत नहीं होगी और घर के बच्चे बुजुर्ग और क्षेत्र के सभी लोग सुरक्षित और खुशहाल रहेंगे.

तेजी से हो रही मौत के कारण महिलाओं में काफी चिंता है. अगर ऐसा नहीं किया गया तो यह बीमारी सभी लोगों को धीरे-धीरे अपनी गिरफ्त में ले लेगी और  लोग मर जाएंगे. सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा हुई महिलाओं में इस पूजा को लेकर काफी उत्साह रहा. लेकिन, क्षेत्र के लोग इस आस्था को अंधविश्वास मानते हैं, अतरौलिया क्षेत्र का यह पहला मामला है जहां इतनी भारी संख्या में महिलाएं ईकट्ठा होकर डीह और काली को कोरोना से बचने के लिए धार चढ़ा रही हैं. इस पूजा में कई गांव की सभी महिलाएं शामिल रहीं. पूरे क्षेत्र के लोगों में यह बात चर्चा का विषय बनी हुई है.
कोरोना काल में इस तरह की पूजा-अर्चना इलाके में चर्चा की विषय बनी हुई है. साथ ही पुलिस प्रशासन इस मामले में मौन है. कोरोना काल में भीड़ जुटाकर मौत को दावत दी जा रही है. इस पूजा से कोरोना भागेगा या नहीं इस बात की कोई गारंटी नहीं है, लेकिन इस बात की गारंटी है कि सैकड़ों लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं. जिसके चलते कई लोगों की जान जा भी सकती है.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here