छात्राओं के सामने अर्धनग्न हो गया था शारीरिक शिक्षक, शिक्षा विभाग ने किया निलंबित

0
74
यंग भारत ब्यूरो
जिले के आदिवासी अंचल कोटडा कस्बे के खजुरिया विद्यालय में शिक्षा के मंदिर को शर्मसार करने वाले शारीरिक शिक्षक के खिलाफ शिक्षा विभाग ने सख्त कार्रवाई की है.
शिक्षा विभाग ने शारीरिक शिक्षक देवीलाल मीणा को निलंबित कर दिया है. वहीं मामले की निष्पक्ष जांच के लिए एक टीम भी गठित कर दी है. यही नहीं, शिक्षक के इस कुकृत्य पर बाल आयोग ने भी गम्भीरता से लेते हुए विभाग के विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.
दरअसल, खजुरिया गांव की राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय के शारिरिक शिक्षक देवीलाल मीणा ने शराब के नशे में मदहोश होकर स्कूल परिसर में जमकर उत्पात मचाया था. शराब के नशे में की गई उसकी इस हरकत ने शिक्षा के मंदिर को की मर्यादा को तार-तार कर दिया. देवीलाल ने अपने सहयोगी शिक्षकों को के साथ बदसलूकी करते हुए उनके साथ मारपीट की. साथ ही बीच-बचाव में गए संस्था प्रधान पर भी हाथ उठा दिया.
उसकी यह हरकत यही नहीं रुकी. उसने स्कूल में पढ़ने आई छात्राओं के सामने ही अपने आप को अर्धनग्न कर दिया और अपशब्द कहे. स्कूल में हो रहे हंगामे को सुन कुछ ग्रामीण वहां पहुंचे. गांव के कुछ युवाओं ने देवीलाल की इस काली करतूत को अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया. शिक्षक के इस करतूत के वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुए.
बाल आयोग ने भी संज्ञान लिया 
पूरे घटनाक्रम की शिकायत संस्था प्रधान आलोक कुमार शर्मा ने शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों से की थी. इस पर विभागीय अधिकारियों ने त्वरित कार्रवाई करते हुए शारीरिक शिक्षक देवीलाल मीणा को निलंबित करने की कार्यवाही को अंजाम दिया. मामले की गंभीरता को देखते हुए बाल आयोग ने भी संज्ञान लिया है. आयोग के सदस्य शैलेश पंड्या ने बताया कि इस पूरे मामले में शिक्षा विभाग से विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है. साथ ही दोषी शिक्षक के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की भी निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के आधार पर शिक्षक के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई की जाएगी.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here