दलित लड़की से गैंगरेप,

0
37
यहां भी हाथरस जैसे आरोप,
लड़की के पिता बोले- पुलिस ने मर्जी के खिलाफ बेटी का अंतिम संस्कार किया
बाराबंकी: प्रदेश के बाराबंकी में 15 साल की दलित लड़की से गैंगरेप के बाद मौत के मामले में भी पुलिस पर हाथरस की घटना जैसे आरोप लगे हैं। पीड़ित के पिता का कहना, “पुलिस ने बेटी का शव जबरन जला दिया, जबकि हिंदू धर्म में नाबालिग को दफनाया जाता है। इस मामले की CBI जांच होनी चाहिए।”
‘3 दिन से खाना नहीं खाया, प्रशासन इंतजाम करे’
घटना बाराबंकी के सतरिख थाना इलाके के सेठमऊ गांव में बुधवार की है। लड़की खेत में धान काटने गई थी। काफी देर तक नहीं लौटी तो घरवालों ने तलाश शुरू की। रात में लड़की का शव खेत में अर्धनग्न हालत में मिला। उसके हाथ बंधे हुए थे। मौके पर शराब की 3 बोतलें मिली थीं। आरोपियों ने लड़की की नाक और मुंह दबा दिए, जिससे उसकी मौत हो गई। पीड़ित के पिता का कहना है कि उनके परिवार के लोग 3 दिन से भूखे हैं, प्रशासन को खाने का इंतजाम करना चाहिए।
‘गांव का एक लड़का बेटी से जबरन शादी करना चाहता था’
लड़की के पिता का कहना है “गांव का एक लड़का मेरी बेटी से जबरन शादी करना चाहता था। लेकिन बच्ची नाबालिग थी, इसलिए मैंने शादी करने से इनकार कर दिया था। इसलिए, वे लोग परेशान करने लगे थे। हमने पुलिस से शिकायत की तो 3 लोग लोग पकड़े गए। तभी उन्होंने बदला लेने की धमकी दी थी।
पुलिस निर्दोष लोगों को पीट रही
लड़की के पिता का यह भी कहना है कि पुलिस ने गांव के कुछ ऐसे लोगों को उठाया है, जिनके वारदात में शामिल होने की आशंका नहीं है। पुलिस दोषियों को पकड़े और निर्दोष लोगों को न फंसाए। वरना बाद में लोग मुझे यहां रहने नहीं देंगे। मैं मेहनत-मजदूरी कर किसी तरह अपने परिवार का पेट पाल रहा था। अब घर में खाने-पीने के लिए कुछ नहीं बचा है।
एक आरोपी गिरफ्तार
बाराबंकी पुलिस ने दिनेश गौतम नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया है। वह सेठमऊ गांव का ही रहने वाला है। उसने कबूला है कि वह वारदात में शामिल था। बाकी 4 संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।
पुलिस ने पहले हत्या का केस दर्ज किया, बाद में रेप की धारा जोड़ी
प्रभारी एसपी आरएस गौतम ने बताया कि बुधवार देर शाम खेत में लड़की का शव मिला था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि होने के बाद FIR में हत्या के साथ दुष्कर्म की धारा बढ़ा दी गई। जांच के लिए अपर एसपी की अगुआई में टीम बनाई गई है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here