बड़े डाकघर का फर्जीवाड़ा, पांच लाख के चेक को बना दिया 50 लाख

0
32
कानपुर: बड़े डाकघर का एक और फर्जीवाड़ा सामने आया है। अबकी बार किसान विकास पत्र (केवीपी) के सहारे फ्रॉड किया गया। पता चला है कि केवीपी में निवेश के लिए लगी पांच लाख की चेक को छेड़छाड़ कर 50 लाख रुपये का बना दिया। चीफ पोस्टमास्टर जनरल ने दोषी सहायक पोस्टमास्टर समेत तीन कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है।
बताया जाता है कि पिछले हफ्ते एक व्यक्ति ने एजेंट के माध्यम से पांच लाख रुपये की चेक किसान विकास पत्र के अंतर्गत जमा की थी। डाकघर में ही जमा चेक को पांच लाख की जगह 50 लाख रुपये दिखा दिया गया। मामला तब पकड़ में आया जब फाइल तीन चक्र की जांच के बाद आगे के अफसरों तक पहुंची तो खेल खुल गया।
चीफ पोस्टमास्टर जनरल वीके वर्मा ने एक जांच कमेटी बनाई है। जांच में पता चला कि डाक सहायक विनीत शाह ने बिना जांच के ही चेक समेत पूरी पत्रावली सहायक पोस्टमास्टर सतीश गौड़ को भेज दी। सतीश ने फाइल ट्रेजरार अशोक के पास भेज दी। अशोक ने भी आगे बढ़ा दिया, लेकिन आगे के अफसरों ने इसे पकड़ लिया। जांच में तीनों दोषी पाए गए।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here