‘सिर्फ वही लोग बचेंगे, जिन्होंने वैक्सीन ली है, बाकी मारे जाएंगे, इस देश ने जारी की खतरनाक चेतावनी

0
97
यंग भारत ब्यूरो
बर्लिन: जर्मनी की सरकार ने अपने देश के नागरिकों के लिए कोरोना वायरस के मामलों में फिर से बढ़ोतरी को देखते हुए अब तक की सबसे खतरनाक चेतावनी जारी की है। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि, ‘या तो वैक्सीन लेकर अपनी जान बचा लो, या फिर कुछ महीने में मरने के लिए तैयार हो जाओ’। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट को लेकर खतरनाक चेतावनी जारी की है।
स्वास्थ्य मंत्री ने जारी की चेतावनी जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पैन ने सोमवार को देश के उन लोगों के लिए चेतावनी जारी की है, जो वैक्सीन नहीं ले रहे है। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, कुछ महीने में सिर्फ वही लोग बचेंगे, जिन्होंने कोविड-19 का टीका ले लिया है और कोविड-19 का टीका नहीं लेने वाले लोग मारे जाएंगे। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने देश के सभी लोगों से कोविड-19 का टीका लेने का आग्रह किया है। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, ”शायद इस साल के अंत तक या सर्जी खत्म होने तक, जर्मनी में वही लोग बचेंगे, जिन्होंने कोविड-19 का टीका लगवा लिया है, या फिर जिन्हें कोविड-19 हो चुका है और वो ठीक हो चुके हैं…नहीं तो बाकी सभी मारे जाएंगे”।

बेहद खतरनाक डेल्टा वेरिएंट जर्मनी की सरकार ने कोविड-19 के डेल्टा वेरिएंट को काफी ज्यादा खतरनाक बताया है और कहा है कि, इससे बचने का एकमात्र उपाय कोविड-19 का टीका लगाना है। उन्होंने सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि, जर्मनी की सरकार एक बार फिर से कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए लड़ाई लड़ रही है और हम एक बार फिर से कोविड-19 को लेकर अलार्म जारी कर रहे हैं, हम अस्पतालों का जायजा ले रहे हैं, अस्पतालों में व्यवस्था बहाली की तरफ ध्यान दे रहे हैं, क्योंकि ये वेरिएंट काफी ज्यादा खतरनाक है।

68 प्रतिशत आबादी को लगा वैक्सीन जर्मनी की सरकार ने अपने देश के नागरिकों के लिए मुफ्त में वैक्सीन की व्यवस्था की है और जर्मनी की आबादी भारत जैसे देशों के मुकाबले काफी ज्यादा कम है, फिर भी भी तक देश में सिर्फ 68 प्रतिशत लोगों ने ही कोविड-19 का टीका लिया है और जर्मनी के स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि, ”देश में महामारी को नियंत्रण में रखने के लिए ये प्रतिशत काफी कम है”। आपको बता दें कि, जर्मनी, यूरोपीय संघ का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है। और रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट स्वास्थ्य एजेंसी के अनुसार, सोमवार को देश में 30,643 नये मामले सामने आने के बाद देश में अब तक 53 लाख लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण हो चुका है।

एक लाख से ज्यादा लोगों की मौत जर्मनी में पिछले 24 घंटे में 62 लोगों की मौत कोरोना वायरस की वजह से हुई है और अब तक देश में एक लाख से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना महामारी की वजह से हो चुकी है। वहीं, जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि, “हमारे अस्पतालों की स्थिति अब काफी खराब हो चुकी है”। आपको बता दें कि, जर्मनी ने पिछले हफ्ते कोविड-19 के खतरनाक चौथी लहर को रोकने के लिए सख्त कोरोनावायरस प्रतिबंधों की घोषणा की है। देश में सिनेमाघरों को फिर से बंद कर दिया गया है, जिम, इनडोर डाइनिंग समेत सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ लगाने पर प्रतिबंध जारी कर दिया गया है।

सख्त गाइडलाइंस जारी जर्मनी की सरकार ने सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को एक बार फिर से ‘वर्क फ्रॉम होम’ की तरफ वापस लौटने को कहा है, वहीं सख्त आदेश जारी करते हुए निजी क्षेत्र की कंपनियों से कहा गया है कि, जिन कर्मचारियों ने वैक्सीन की खुराक नहीं ली है, उन्हें काम करने की इजाजत नहीं दी जाए और नियमित तौर पर सभी कर्मचारियों का कोविड-19 टेस्ट करवाने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही देश में इस साल भी क्रिसमस कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है और सभी बड़े आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिए गये हैं। वहीं, देश के वरिष्ठ नागरिकों से कहा गया है कि, वैक्सीन को कारगर बनाए रखने के लिए वो वैक्सीन का बूस्टर डोज भी 6 महीने पर लें।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here