दुल्हन को नहीं मिला मनपसंद हार, लौटाई बारात:दूल्हे के साथ जाने से किया इनकार, दोनों पक्ष मामले के समाधान में लगे

0
52
लखीमपुर खीरी के कोतवाली नीमगांव के अंतर्गत मनपसंद हार दुल्हन को न मिलने पर दूल्हे को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा। कोतवाली नीमगांव के बेहजम ढकिया बुजुर्ग निवासी नत्थू राम के बेटे अनिल कुमार की शादी 11 मई को होनी थी।
नत्थूराम बारात लेकर के 11 मई को गाजे बाजे के साथ गांव नगरा कोतवाली नीमगांव रामशरन के यहां पहुंचे। रामशरन ने बारातियों की खूब जमकर खातिरदारी की। सब कुछ रीति रिवाज से होता रहा, जब बारी आई हार देने की तो दुल्हन ने हार देखकर दूल्हे के साथ जाने से इनकार कर दिया। हार दुल्हन के मन को नहीं भाया।
दूल्हे अनिल कुमार को बिना दुल्हन लिए बारात से घर को वापस होना पड़ा। क्योंकि दुल्हन की मांग थी, जब तक हार मनपसंद नहीं होगा वह नहीं जाएगी। अनिल कुमार का कहना है यदि वह बारात ले करके नहीं गए होते या मना कर दिया होता तो उन पर कानूनी कार्रवाई होने लगती। हमारे पास जो देने के लिए था, लेकर के गए थे। कहा भी था बाद में बनवा देंगे, उसके बाद भी मन के मुताबिक हार की मांग पर विदाई नहीं की गई।
अनिल कुमार के पिता नाथूराम कितने अरमानों से अपने लड़के की बारात लेकर पहुंचे थे, लेकिन दुल्हन की एक मनपसंद हार की जिद ने मामला कुछ और ही कर दिया। फिलहाल दोनों पक्ष जल्द ही मामले के समाधान के लिए लगे हुए हैं। मनपसंद हार के लिए दुल्हन का दूल्हे के साथ जाने से इंकार कर देना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।
संजय श्रीवास्तव- समूह सम्पादक (9415055318)
शिविलिया पब्लिकेशन- लखनऊ,
अनिल शर्मा- निदेशक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here